Bihar Now
ब्रेकिंग न्यूज़
Headlinesअन्यजीवन शैलीटैकनोलजीटॉप न्यूज़फोटो-गैलरीबिजनेसबिहारब्रेकिंग न्यूज़राजनीतिराष्ट्रीय

नहाय खाय के साथ लोक आस्था का महापर्व आज से शुरू, व्रतियों ने गंगा में लगाई डुबकी, पहले दिन कद्दू भात का प्रसाद…

आज से नहाय-खाय के साथ लोक आस्था का महापर्व छठ की शुरुआत हो चुकी है। 19 तारीख को डूबते सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। 20 को डूबते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही 4 दिन का महापर्व खत्म होगा।

आज के दिन छठ व्रतियों ने सुबह-सुबह नदियों में स्नान किया। नए कपड़े पहनकर सूर्य की पूजा की। इसके बाद नदी के पवित्र जल से सात्विक रूप से बनाए जाने वाले कद्दू भात का प्रसाद ग्रहण किया।

छठ पर्व मुख्य रूप से भगवान भास्कर की उपासना का पर्व है…छठ महापर्व के पहले दिन नहाय-खाय है। नहाय-खाय के दिन भोजन में लहसुन प्याज का इस्तेमाल नहीं होता है। इस दिन लौकी की सब्जी, अरवा चावल, चने की दाल, आंवला की चटनी, पापड़, तिलौरी, आदि बनते हैं, जिसे प्रसाद के रूप में ग्रहण किया जाता है।

नहाय-खाय के दिन बनाया गया खाना सबसे पहले व्रत रखने वाली महिलाओं और पुरुषों को परोसा जाता है। इसके बाद ही परिवार के अन्य लोग भोजन ग्रहण करते हैं। इस प्रसाद के सेवन का भी खास महत्व है।

नहाय खाय के दिन छठ व्रत करने वाली महिलाएं सबसे पहले सुबह स्नान कर नए वस्त्र पहनती हैं। कद्दू यानी लौकी और भात यानी चावल का प्रसाद बनाती हैं। इस प्रसाद को खाने के बाद ही छठ व्रत की शुरुआत हो जाती है।

ऐसा माना जाता है कि मन, वचन, पेट और आत्मा की शुद्धि के लिए छठ व्रतियों का पूरे परिवार के साथ कद्दू भात खाने की परंपरा वर्षों से चली आ रही है। धार्मिक मान्यताओं के लावा कद्दू खाने के और भी बहुत सारे फायदे हैं। जैसे कि इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट्स पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है। जिससे इम्यून सिस्टम स्ट्रॉन्ग होता है।

छठ व्रत को काफी कठिन माना जाता है, क्योंकि व्रती महिलाएं और पुरुष करीब 36 घंटे तक निर्जला उपवास करते हैं। वैदिक मान्यताओं के अनुसार नहाय-खाय से छठ व्रतियों पर षष्ठी माता की कृपा बरसती है, जो श्रद्धा पूर्वक व्रत-उपासना करते हैं। इस पर्व को करने से संतान की प्राप्ति होती है…

छठ महापर्व पर 19 नवंबर को डूबते सूर्य और अगले दिन सोमवार को श्रद्धालु उदीयमान अर्घ्य अर्पित करेंगे। इस दौरान प्रदेश के अलग-अलग जिलों में सूर्यास्त और सूर्योदय का समय भी अलग-अलग होगा। इसको लेकर मौसम विभाग ने विशेष बुलेटिन जारी किया है। ये भी बताया है कि उस दिन मौसम कैसा रहेगा।

पटना की बात करें तो 19 नवंबर को पूरे दिन मौसम शुष्क बना रहेगा। सुबह और शाम के वक्त कोहरा छाया रहेगा। आसमान में बादल भी नजर आएंगे। हालांकि दोनों दिन (19 और 20 नवंबर को) बारिश होने की कोई भी संभावना नहीं है।

पटना में 19 नवंबर को 06.09 बजे सूर्योदय और 17.00 बजे सूर्यास्त होगा। 20 नवंबर को सुबह 6:10 बजे सूर्योदय और शाम 4:59 बजे सूर्यास्त होगा। तापमान की बात करें तो अधिकतम तापमान 30-32 डिग्री और न्यूनतम तापमान 18-20 के बीच रहेगा…

Related posts

हिट एंड रन कानून के विरोध में बिहार में भी ट्रक ड्राइवरों का दूसरे दिन भी हड़ताल जारी, प्रदर्शन से परेशान आम नागरिक …

Bihar Now

सुपौल के SDO सहित उनके परिवार के लोग हुए कोरोना पॉजिटिव….

Bihar Now

वैशाली में भीषण हादसा, आग की लपेटे में जिंदा जली लड़की,कई घर सहित लाखों की संपत्ति जलकर खाक..

Bihar Now

एक टिप्पणी छोड़ दो