Bihar Now
ब्रेकिंग न्यूज़
Headlinesअन्यबिहार

गोपालगंज पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने से पहले ही ठेकेदार ने मारा ताला…

Advertisement

कहा-जब तक भुगतान नहीं, नहीं शुरू होने देंगे सेवा केंद्र.

गोपालगंज : जिले में पासपोर्ट केंद्र खोलने को लेकर श्रेय की राजनीति चरम पर है. चुनाव पूर्व तत्कालीन सांसद जनक राम और बैकुंठपुर विधानसभा से भाजपा विधायक मिथिलेश तिवारी अपने अपने लेटर को लेकर पब्लिक के बीच यह संदेश देने की कोशिश करने लगे कि उनके कारण ही पासपोर्ट सेवा केंद्र खुल रहा है. लेकिन एक हकीकत यह है केंद्र सरकार का विदेश मंत्रालय हर जिले में ऐसे केंद्र खोलने की योजना है.

पायलट प्रोजेक्ट के तहत बिहार के जो जिले चयनित किए गए, उसमें गोपालगंज इसलिए था क्योंकि सबसे ज्यादा पासपोर्ट बनने वाले जिले में यह जिला शामिल था. इनकी भनक लगते ही नेताओं ने भविष्य की राजनीति के लिए लेटरबाजी शुरू की और आज उसी लेटकर को दिखा कर पब्लिक के बीचे खुद को श्रेय लेने की राजनीति कर रहे हैं. लेकिन इन सब से अलग एक हकीकत यह है कि पासपोर्ट सेवा केंद्र पर अभी ठेकेदार ने ताला मारा हुआ है.

Advertisement

पासपोर्ट कार्यालय के लिए जमीन चयनित हो चुकी थी. लेकिन इसके कमरा बनवाने के लिए डाक विभाग के पास पैसे नहीं थे. इसी क्रम में एक बार गोपालगंज भाजपा के जिला अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह की मुजफ्फरपुर के एपीजीएम यानी सहायक पोस्टमास्टर जनरल से ​मुलाकात हो गई. अनौपचारिक बातचीत में पासपोर्ट सेवा केंद्र खुलने की भी बात चली. वही एपीजीएम ने कहा कि यदि कोई कमरा बनवा दे तो यह केंद्र तुरंत शुरू हो जाएगा. इसके लिए ​भाजपा अध्यक्ष विनोद कुमार सिंह ने पहल की. 3.36 लाख का ठेका भी भाजपा के कार्यकर्ता अरविंद श्रीवास्तव को मिला. ठेकेदार अरविंद श्रीवास्तव ने काम शुरू किया. काम पूरा भी हो गया. लेकिन डाक विभाग के पास भुगतान के लिए पैसे ही नहीं थे, क्योंकि वह समय वित्तिय वर्ष 2018—19 का आखिरी समय चल रहा था. ठेके का भुगतान था 3.63 लाख और देर स डाक विभाग ने करीब तीन लाख का भुगतान ठेकेदार अरविंद श्रीवास्तव को कर दिया. तभी चुनाव की अधिसूचना जारी हो गई और पासपोर्ट सेवा केंद्र का औपचारिक शुरुआत अधर में लटक गया.

ठेकेदार का बकाया 63 हजार भी फंस गया. सरकार गठन के बाद भी ठेकेदार का बकाया भुगतान नहीं हुआ तो ठेकेदार ने पासपोर्ट सेवा केंद्र के कक्ष में लॉकर का ताला मार दिया. उसने औपचारिक रूप से नवनिर्मित कक्ष को डाक विभाग को हैंडओवर नहीं किया. ठेकेदार अरविंद श्रीवास्तव का कहना है कि जब तक उनका बकाया भुगतान नहीं हो जाता, कक्ष का हैंडओवर नहीं करेंगे.

संजीव,बिहार नाउ,गोपालगंज

Advertisement

Related posts

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री अश्विनी चौबे ने मंत्रिमंडल विस्तार में शामिल नए मंत्रियों को दी बधाई एवं शुभकामनाएं…

Bihar Now

कोरोना को लेकर नीतीश सरकार को बिहार कांग्रेस की सलाह !…

Bihar Now

गांजा और नशीली दवा बेचने वाले गिरोह का पर्दाफाश,एक गिरफ्तार…

Bihar Now