Bihar Now
ब्रेकिंग न्यूज़
Headlinesबिहार

कायाकल्प योजना से बदलेगी स्वास्थ्य सेवाओं की तस्वीर – सिविल सर्जन, लखीसराय…

विभिन्न बिंदूओं पर मूल्याकंन कर दिये जाते हैं 500 अंक

लखीसराय, 8 जनवरी: कायाकल्प कार्यक्रम को लेकर सिविल सर्जन डॉ सुरेश शरण की अध्यक्षता में बुधवार को जिला स्वास्थ्य समिति कार्यालय में प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने बताया जिला के रामगठ चौक के द्वारा की 78 फीसदी अंक प्राप्त किया गया है. बाकी सभी स्वास्थ्य संस्थानों को 70 प्रतिशत से कम अंक प्राप्त हुए है. इस दिशा में काम किये जाने की जरूरत है. उन्होंने बताया सार्वजिक स्वास्थ्य संस्थानों में साफ-सफाई व संक्रमण रोकने के लिए किए गए प्रयासों को बढ़ावा देने के लिए कायाकल्प योजना की शुरुआत की गयी है. नई योजना ‘कायाकल्प’ पहल देश की प्रत्येक सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्था को उत्कृष्टता के मानकों की दिशा में काम करने के लिए उत्साहित करेगा, जिससे संस्था को स्वच्छ रखने में मदद मिलेगी. उन्होंने बताया 500 अंक में से 350 अंक अंक प्राप्त करना जरूरी है.

250 बिंदूओं पर की जाती है जांच: प्रशिक्षण के क्रम में केयर इंडिया के टीम लीडर नावेद उर रहमान ने भी चेकलिस्ट के मुख्य बिंदुओं पर चर्चा कर बताया कायाकल्प योजना के तहत स्वास्थ्य केंद्रों और अस्पतालों में सुविधाओं के आधार पर लगभग 250 बिदुओं पर जांच की जाती है। इनमें सात बिदु प्रमुख होते हैं, जिसमें मरीजों को दी जाने वाली सुविधाएं, सफाई, मैनेजमेंट, सामाजिक कार्य, मरीजों का भोजन आदि शामिल हैं। इन बिदुओं के आधार पर स्वास्थ्य केंद्र को 500 तक अंक दिए जाते हैं।

सफाई के मुख्य पहलुओं पर की चर्चा: रामगढ़ चौके के प्रभारी चिकित्सा प्रभारी ने भी अस्पताल के साफ सफाई संबधी मुख्य पहलुओं पर चर्चा कर बताया कि कैसे सफाई रखा जाना चाहिए. उन्होंने जानकारी दी सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थाओं में स्वच्छता के लिए दिशा-निर्देश भी जारी किये गये हैं. सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थानों में पूर्ण स्वच्छता पहल का उद्देश्य संस्थानों का इस्तेमाल करने वाले उपयोगकर्ताओं के मनोबल को ऊंचा करना, गुणवत्तापूर्ण सेवा मुहैया कराना तथा टीम वर्क को उत्साहित करना है.

कायाकल्प कार्यक्रम के तहत मिलेंगे अवार्ड भी: कायाकल्प कार्यक्रम का उद्देश्य सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थानों में साफ-सफाई तथा संक्रमण रोकने के लिए किए गए प्रयासों को बढ़ावा देना और सफाई व संक्रमण नियंत्रण के मानक प्रोटोकॉल के पालन में अनुकरणीय प्रदर्शन करने वाले संस्थानों की पहचान करना है। इस योजना के तहत प्रत्येक राज्य के दो बेहतरीन जिला अस्पतालों तथा प्रत्येक जिले के दो सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों या उप जिला अस्पतालों तथा एक प्राथमिक चिकित्सा केंद्र को अवॉर्ड देने की भी घोषणा की गयी है.

इस मौके पर स्वास्थ्य विभाग के कई उच्च पदाधिकारी व डीपीसी सुनील कुमार, व पंकज कुमार मौजूद थे.

Related posts

पप्पू के जनक्रांति मार्च को पुलिस ने रोका, छोड़े गए आंसू गैस, वाटर कैनन के सहारे कार्यकर्ताओं को खदेड़ने की कोशिश

Bihar Now

लूट के दौरान एक युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस…

Bihar Now

Breaking : गोपालगंज में कड़े मुकाबले के बीच खिल गया “कमल”, RJD के मोहन गुप्ता को हराया…

Bihar Now