Bihar Now
ब्रेकिंग न्यूज़
अन्यटॉप न्यूज़बिहार

मिस टीआरपी : मीडिया हाउस की कहानी, पत्रकार की जुबानी…

Advertisement


‘मिस टीआरपी’ भारतीय पत्रकारिता, विशेष रूप से टीवी पत्रकारिता पर हास्य-व्यंग की शैली में लिखी गयी एक ऐसी किताब है जो पत्रकारिता के अन्दर आने वाली विकृतियों पर सवाल उठाती है। पत्रकारिता के चेहरे को बदनुमा बनाने वाली कुछ ऐसी बातें, जो वर्तमान में पत्रकारिता की परम्परा बनती जा रही हैं, इस किताब में उन्ही बातों को कहानी का आधार बनाया गया है। टीवी चैनलों के पत्रकार किस तरह से टीआरपी के पीछे अपनी मौलिक पहचान खोते जा रहे हैं या मीडिया के अन्दर चापलूसी और प्रपंच जैसी बुराइयाँ किस कदर बढ़ती जा रही हैं, इन बातों को इस किताब में हास्य-व्यंग के जरिए बखूबी चित्रित किया गया है..

Advertisement

इस किताब के लेखक अवनीन्द्र झा खुद पत्रकार है और उन्होने कई मीडिया संस्थानों में काम किया है। लिहाजा पत्रकारों के काम करने की शैली, उनकी सोच, उनके काम करने के अन्दाज उनकी आशा-निराशा और मीडिया हाउस के माहौल का बारीक चित्रण किया है।
सन्मति प्रकाशन द्वारा प्रकाशित इस किताब में 132 पृष्ठ एवं 18 कहानियाँ हैं। किताब का कवर काफी आकर्षक है और पाठकों को अपनी ओर खींचता है।

Related posts

चुनाव परिणाम आने से पहले ही नीतीश कुमार के करीबी ने गंवाई मंत्री की कुर्सी…

Bihar Now

रेस्क्यू के बाद अस्पताल ले जाने के दौरान बच्चे की मौत, 25 घंटे की मेहनत नाकाम, नहीं बची रंजन की जान

Bihar Now

BJP व JDU विधायकों पर सदन में गाली गलौच का आरोप, RJD के दलित विधायक रामवृक्ष सदा का आरोप…

Bihar Now